हंता वायरस क्या है उसके लक्षण, कारण, इलाज़, रोकथाम, बचाव

Hanta Virus Kya hai पूरी दुनिया जहाँ कोरोना वायरस से उबरा नही था कि चीन के यूनान प्रांत में हंता वायरस (HantaVirus) का मामला सामने आया है, जिससे अभी तक एक व्यक्ति भी मौत भी हो चुकी है, जिससे चीन सहित पूरी दुनिया फिर भी सदमे में आ गई है कि अब क्या होने वाला है।

हंता वायरस क्या है उसके लक्षण, कारण, इलाज़, रोकथाम, बचाव | HantaVirus in Hindi
HantaVirus in Hindi

इस आर्टिकल में हम आपको हंता वायरस क्या है | What is HantaVirus in Hindi के बारें में बताने वालें है। जिसमें आप Hanta Virus Kya Hota Hai के बारें में जान सकते है। पिछले आर्टिकल में हम आपको कोरोना वायरस क्या है के बारें में बताये थे। अब इसमें आप हंता वायरस के बारें में जानेंगे तो चलिये शुरू करते है।

हंता वायरस क्या है | HantaVirus in Hindi

यह एक नई किस्म का वायरस है जो कोरोना वायरस से बिल्कुल अलग है, लेकिन दोनों का लक्षण समान है। यूएस सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार हंता वायरस चूहा और गिलहरी के संपर्क में आने से और उसका मल-मूत्र के छूने या उसे खाने से फैलता है।

जब भी कोई स्वथ्स्य व्यक्ति इस जानवर के संपर्क में आता है तो उसमें HantaVirus का लक्षण आने लगती है। इस वायरस की खास बात यह है कि यह कोरोना वायरस के जैसे एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के संपर्क में आने से नही फैलता है, जबकि चूहा और गिलहरी के खाने, उसके संपर्क में आने से और उसका गंदगी छूने से फैलता है।

अब तक हंता वायरस से एक व्यक्ति की मौत भी हो चुकी है। जब चीन के एक व्यक्ति बस की यात्रा कर रहा था जो अचानक उसकी मौत हो गई, जब उसके मौत के कारण का पता चला तो उसमें आया गया कि उसकी मौत हंता वायरस से हुई है। बस में जीतने भी यात्री थे, उनमे से 32 लोग इसके प्रभाव यानि वो भी हंता वायरस के संक्रामण का शिकार हो चुके है।

हंता वायरस कैसे फैलता है | HantaVirus failne ke karan

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया कि हंता वायरस कोरोना वायरस के जैसे नही फैलता है, बल्कि चूहा और गिलहरी के संपर्क में आने से फैलता है। वैश्विक महामारी को देखते हुये WHO ने अभी इन जानवरों के संपर्क में आने से रोका है और इससे दूरी बनाये गये बातों पर ध्यान दिया है।

  • सीडीसी के मुताबिक हंता वायरस का संक्रमण हवा या सांस के जरिए नहीं फैलता।
  • अगर एक व्यक्ति इस वायरस से पीड़ित है तो उससे दूसरे व्यक्ति को संक्रमण नहीं फैलता।
  • अगर कोई व्यक्ति चूहे के संपर्क में आता है तो, उसे हंता वायरस के संक्रमण का खतरा होता है।
  • चूहे के लार, थूक, मल या मूत्र के संपर्क में आने से और इन्हीं हाथों से आंख, कान या मुंह वगैरह छून से इसका संक्रमण हो सकता है।
HantaVirus rate
HantaVirus in hindi

क्या हंता वायरस खतरनाक है | HantaVirus Dangerous in hindi

CDC के अनुसार हंता वायरस कोरोना वायरस के जैसे ही जानलेवा है और इससे 38 प्रतिशत या उससे अधिक व्यक्ति कि मौत हंता वायरस के जरिये हो सकता है। अब तक इस वायरस का शिकार चीन के 32 लोग ही हुये है अगर इस वायरस के रोक-थाम के लिए जल्द कदम नही उठाया गया तो यह भी कोरोना के जैसे ही पूरी दुनिया में फैल सकता है, जिससे दुनिया तबाह हो सकती है।

Read :  Mother's Day क्यों और कब मनाया जाता है तथा इसका इतिहास, गिफ्ट के बारें में

हंता वायरस का क्या लक्षण है | Symptoms of HantaVirus

कोई भी बीमारी जब होती है तो उसका लक्षण जरूर होती है, जिससे यह पता लगाया जाता है कि कौन-सा बीमारी है। ठीक उसी तरह हंता वायरस का भी कई लक्षण है, जिससे यह पहले ही कोरोना की तरह जाना जा सकता है कि यह हंता वायरस का लक्षण ही है। हंता वायरस का कई लक्षण है जो निम्नलिखित है:-

  • अचानक तेजी से बुखार हो जाना हंता वायरस का लक्षण है जिसका तापमान 101 डिग्री से भी अधिक हो सकती है।
  • जब कोई भी व्यक्ति हंता वायरस का शिकार हो जाता है तो उसके सिर और पूरा शरीर में दर्द होने लगती है।
  • उल्टी (वोमेटिंग) पेट दर्द इसके इसके प्रमुख लक्षण है।
  • इसके संक्रमित व्यक्ति को डारिया जैसी बीमारी की भी लक्षण हो सकती है।
  • लक्षण आने के के बाद उसे सांस लेने में तकलीफ हो सकती है।
  • हंता वायरस से ग्रसित व्यक्ति को गले में पानी जमा हो जाती है जिससे सांस लेने में दिक्कत होने लगती है।

आपको बता दे हंता वायरस का लक्षण दिखने में 4 से 10 दिन का साम्य लग सकता है। जिसमें खांसी और सांस की तकलीफ शामिल है। हंता वायरस पल्मोनरी सिंड्रोम 38% की मृत्यु दर के साथ घातक हो सकता है

हंता वायरस का इलाज़ क्या है

जैसा कि आपको पता है कोरोना वायरस के जैसे ही यह नई किस्म का वायरस है जिसका भी की इलाज़ नही है इसका सुरक्षा ही उपाय है। चीन सहित दुनिया भर के वौज्ञानिक कोरोना के टीका खोजने और बनाने के लिए दिन-रात मेहनत कर रहें लेकिन उनको अभी तक इसमें कामयाबी नही मिल पाई है।

जिससे दुनिया भर के हजारों लोगों की जान जा चुकी है और लाखों लोग इसके संक्रामण का शिकार हो चुके है। ऐसा ही हंता वायरस के टीका की खोज मे और उस पर शोध चल रही है, जिससे इसका दावा बनाने में मदद मिल सकती है। इसे नही रोका गया तो यह भी पूरी दुनिया में फैल जायेगी और दुनिया तबाह होने के कारगर पर आ जायेगी।

इससे बचना ही एक दवा है। पूरे दुनिया के लोगों को चूहा और गिलहरी के संपर्क में आने से बचना चाहिए और साथ ही साथ उसके गंदगी से भी बचना चाहिए। हो सकता है हंता वायरस दुनिया के सभी चूहा और गिलहरी में हो सकती है, इसलिए इससे बचना चाहिए और दूसरों को भी बचने की सलाह देना चाहिए।

कोरोना या हंता वायरस खतरनाक है | Corona or hanta virus is dangerous

वैज्ञानिकों के मुताबिक, हंता वायरस हवा के जरिए नहीं फैलता फिरभी कोरोना वायरस के मुकाबले ज्यादा खतरनाक है। अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक, हंता वायरस भी जानलेवा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, दुनियाभर में कोरोना वायरस के कारण मौत का ग्लोबल रेट सटीक तरह से पता लगने में कुछ वक्त लग सकता है।

फिलहाल इसे 3-4% के बीच माना जा रहा है। वहीं, फरवरी में जारी रिपोर्ट के मुताबिक नए कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित चीन में यह दर 3.8% थी जो अब 4% पार कर चुकी है। वहीं, अमेरिका में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस का डेथ रेट 1.2% है। यानी कि कोरोना वायरस के इन्फेक्शन होने पर बचने के चांस काफी ज्यादा होते हैं।

Read :  CoronaVirus कोरोना वायरस क्या है तथा बचने का उपाय

वैज्ञानिकों ने अब तक हंतावायरस के 5 स्ट्रेन खोजे हैं, इनमें से सबसे ज्यादा खतरनाक अराराक्वॉरा वायरस है जिसका इन्फेक्शन होने पर डेथ रेट 54% पाया गया है। वहीं, एक दूसरा स्ट्रेन सिन नॉम्ब्रे वायरस है

जिसके केस में डेथ रेट 40% है। तीसरा स्ट्रेन हंतान वायरस होता है। इसका डेथ रेट 5-10% के बीच है। इन तीनों में से किसी से इन्फेक्शन होने पर मौत का खतरा कोरोना की तुलना में कहीं ज्यादा हो सकता है।

कोरोना और हंता वायरस में अंतर | Difference between Corona and Hanta virus

जैसे की आप देख सकते है कि जहाँ कोरोना वायरस एक संक्रमित इंसान से दूसरे स्वथ्स्य व्यक्ति के जरिये और उसके द्वारा छूये गये वस्तुओं के संपर्क यानि उसे छूने से फैलता है तो वही हंता वायरस चूहा और गिलहरी के संपर्क में और उसके घोसला, गंदगी से फैलता है, लेकिन दोनों बीमारी का लक्षण लगभग एक समान ही है और दोनों ही जानलेवा और घातक है।  

Difference between Corona and Hanta virus
कोरोना और हंता वायरस में अंतर

आखरी शब्द

दोस्तों इस विश्व आपदा के समय हम सभी को डरना नही है इसका डटकर मुक़ाबला करना है और ईश्वर से प्रार्थना करते रहना है कि वो ही अब कोई ऐसा पथ-प्रदर्शित करें, जिससे कोरोना और हंता वायरस की संकर्मण की चपेट से मानव सभ्यता को बचाया जा सकता है।

आपने इस Article में हंता वायरस क्या है उसके लक्षण, कारण, इलाज़, रोकथाम, बचाव के बारें में जाना। आशा करता हूँ आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। आपको लगता है कि यह Information सबके साथ Share करनी चाहिए

तो इसे Social Media Facebook, Whatsapp इत्यादि पर अवश्य Share करें। शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

Read :  Mitron App क्या है, किस देश का है और इसका इस्तेमाल कैसे करें | Mitron App in hindi

Leave a Comment