मयंक अग्रवाल का जीवन परिचय Biography of Mayank Agarwal

Biography of Mayank Agarwal : बॉलीवुड हो या फिर क्रिकेट की दुनिया यहाँ हर दिन कोई ना कोई युवा स्टार अपनी मेहनत और टैलेंट के दम पर लोगों का दिल जीतता है। आज यदि भारतीय क्रिकेट की बात करे तो हमेशा हमारे मन में बड़े-बड़े नाम सामने आते हैं और जिस तरह आज भारतीय क्रिकेट टीम प्रदर्शन कर रही है। उससे तो यही लगता है कि इन बड़े नामों की लिस्ट और भी लंबी होने जा रही है। इस बात को सभी जानते हैं कि कोई बड़ा खिलाड़ी ऐसा ही नहीं बनता उसे भी कहीं ना कहीं से शुरुआत करनी पड़ती है और उसके बाद ही अपने खेल में इतने माहिर हो पाते हैं। ऐसे ही नहीं किसी खिलाड़ी का नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज किया जाता है और फिर उसे हमेशा याद रखा जाता है। आज हमारे इस ब्लॉग में हम ऐसे ही एक उभरते हुए क्रिकेट खिलाड़ी मयंक अग्रवाल के जीवन के बारे में जानेगे।

मयंक अग्रवाल का जन्म और परिवार (Mayank Agarwal’s birth and family)

मयंक अग्रवाल का जीवन परिचय Biography of Mayank Agarwal
मयंक अग्रवाल का जीवन परिचय Biography of Mayank Agarwal

तारक मेहता का उल्टा चश्मा के जेठालाल की सफलता और उनके जीवन का संघर्ष Biography of Jethalal

मयंक का जन्म 16 फ़रवरी 1991 के दिन कर्नाटक के बंगलुरु शहर में हुआ था। मयंक के पिता का नाम अनुराग  अग्रवाल है जो की एक हेल्थकेयर कम्पनी के सीईओ है और माता का नाम सुचित्रा सिंह है जो की एक गृहणी, राज किशन नाम का इनका भाई है। वही मयंक ने 2018 में शादी कर ली थी और इनकी पत्नी का नाम आशिता सूद है जो की बेंगलुरु पुलिस कमिश्नर प्रवीण सूद की बेटी है। इसके अतिरिक्त मयंक का एक बेटा भी है।

Read :  पुष्पम प्रिया चौधरी की जीवनी | Pushpam priya chaudhary biography in hindi

मयंक अग्रवाल की पढाई (Study of Mayank Agarwal)

मयंक अग्रवाल का जीवन परिचय Biography of Mayank Agarwal
मयंक अग्रवाल का जीवन परिचय Biography of Mayank Agarwal

मयंक अग्रवाल की शुरुआती शिक्षा बेंगलुरु कर्नाटक में हुई थी, इन्होंने Bishop Cotton Boys’ School, Bengaluru में अपनी प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण की थी बाद में ये कॉलेज की पढ़ाई के लिए जैन यूनिवर्सिटी (Jain University) में एडमिशन लिए थे वहां से इन्होने अपनी कॉलेज की पढ़ाई पूरी की थी।

मयंक अग्रवाल का शुरूआती करियर (Mayank Agarwal early career)

मयंक को सबसे पहले कर्नाटक क्रिकेट टीम में वर्ष 2008-09 की साल में अंडर -19 टीम में खेलने का मौका मिला। इसके बाद उन्हें भारतीय अंडर -19 में खेलते हुए वर्ष 2010 में कर्नाटक प्रीमियर लीग के लिए मैन ऑफ द सीरीज़ बने थे। और इसी मैच में उन्होंने अपना पहला शतक भी लगाया था।

रोहित सरदाना की जीवनी Biography of rohit sardana

उसी मैच में मयंक ने शानदार खेल दिखाया था। वर्ष 2017-18 के रणजी ट्रॉफी में 2017 के नवंबर माह में महाराष्ट्र क्रिकेट टीम के सामने उन्होंने 304 रन बनाए थे। ये तिहारा शतक क्रिकेट में उनके प्रथम श्रेणी करियर का पहला तिहरा शतक था। वही भारतीय क्रिकेट इतिहास में ये 50वां तिहरा शतक था। रणजी ट्रॉफी में मयंक अग्रवाल ने इस दौरान 1160 रन बनाये।

मयंक अग्रवाल का इंटरनेशनल करियर (Mayank Agarwal international career)

मयंक अग्रवाल का जीवन परिचय Biography of Mayank Agarwal
मयंक अग्रवाल का जीवन परिचय Biography of Mayank Agarwal
  • टेस्ट करियर : मयंक ने अपने शानदार प्रदर्शन से भारतीय क्रिकेट टीम का दिल जीतने में कामयाब हुए और इसके चलते ही उन्हें 2018 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट टीम में जगह मिली और 26 दिसम्बर 2018 के दिन उन्होंने भारत की तरफ से टेस्ट मैच में डेब्यू किया। इस दौरान उन्होंने अपनी पहली पारी के में ही नाबाद 76 रन बनाए जो कि अपने आप में ही 71 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ते हुए एक नया इतिहास बनाने में सक्षम रहा। टेस्ट डेब्यु के दौरान यह एक ऐसा रिकॉर्ड था जो 71 साल बाद एक भारतीय खिलाड़ी द्वारा बनाया गया था।
  • वनडे करियर : मयंक को वनडे में सीधा साल 2019 के आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के दौरान उन्हें भारतीय टीम में शामिल किया गया। वही बाद में भारतीय खिलाड़ी विजय शंकर के घायल हो जाने के बाद उन्हें टीम में खेलने की जगह दी गई। मयंक ने अभी तक 5 वनडे ही मैच खेला है।
Read :  गूगल की सफलता की कहानी (Success Story Of Google in Hindi)

आईपीएल करियर (Ipl career)

मयंक की प्रतिभा को देखते हुए 2011 में रॉयल चैलेंजर बंगलौर ने उन्हें अपनी टीम में शामिल कर लिया और 2013 तक वह इसी टीम के साथ बने रहे। इसके बाद वह 2014-16 तक दिल्ली डेयरडिवल्स के लिए खेलते दिखे मगर ये दो साल उनके लिए बेहद कठिनाइयों से भरा था। जिसकी वजह से वह अंदर-बाहर होते रहे। ऐसा इसलिए क्योंकि वह अपनी शारीरिक चोट से बार-बार परेशान हो रहे थे। इसके बाद 2017 में उन्हें Rising Pune Supergiant के साथ खेलने का मौका मिला परन्तु इसी एक साल बाद फिर 2018 में पंजाब किंग्स ने इन्हे अपनी टीम में शामिल कर लिया और वह आज तक इसी टीम के साथ बने हुए है।

Leave a Comment