भारत के 7 अजूबे जो आज भी दुनिया में हमारी शान को बढ़ाते है आइए जानते है

भारत के अजूबे : नमस्कार दोस्तों जैसा की आप सभी जानते है की दुनिया में कई तरह के ऐसी चीजें है जो की किसी चमत्कार से कम नहीं है। आज भी दुनिया इसके बारे में पता नहीं लगा पायी की आखिर कैसे इसको इंसान ने बनाया होगा। इनकी कलाकृति आज भी लोगो को सोचने के लिए मजबूर कर देती है की आखिर कैसे ये बना सकते है, इसमें कितने पैसे खर्च हुए होंगे, कितनी मेहनत लगी होगी। इस तरह के सवाल तो हमारे मन में आना आम बात है।

वही आपको भी इस बात की जानकारी होगी की हमारे देश की कई इमारत ऐसी है जो की देश का गौरव पूरी दुनिया में बढाती है। लोगो का तो ऐसा भी मानना है की ये किसी अजूबों से कम नहीं है। इन्ही इमारतों से हमारा और हमारे देश का गौरव बना हुआ है और हर कोई इन्हें देखकर मोहित हो जाता है और हमारी संस्कृति और यहां की रीती रिवाज और परंपराओं के सभी लोग दीवाने हो जाते हैं भारत में सिर्फ दो ही अजूबे ऐसे हैं जो बड़े शहरों में है बाकी दूसरे सभी अजूबे भारत के छोटे-छोटे गांव या शहरों में स्थित है। भारत में स्थित ताजमहल भारत की सबसे सौंदर्य अजूबा है आज हम आपको अपने इस ब्लॉग के माध्यम से बताएंगे कि आखिर वह कौन से सात अजूबे हैं जिनसे भारत देश का गौरव बना हुआ है जो विदेशियों को भारत आने पर मजबूर कर देता है आज हम आपको उन सभी अजूबों से अवगत कराने जा रहे है।

Read :  गूगल की सफलता की कहानी (Success Story Of Google in Hindi)

भारत का ताज महल ( उत्तर प्रदेश )

भारत के अजूबे जो आज भी दुनिया में हमारी शान को बढ़ाते है आइए जानते है
भारत के अजूबे जो आज भी दुनिया में हमारी शान को बढ़ाते है आइए जानते है

मेडिकल लैब तकनीशियन कैसे बने आइए जानते है How to become a medical lab technician

दोस्तों कहा जाता है की मुगल सम्राट शाहजहां ने अपनी बीवी मुमताज की याद में ताजमहल का निर्माण कराया था इसलिए ताजमहल को प्यार की निशानी भी कहा जाता है शाहजहां ने अपने प्यार के लिए इस महल का निर्माण कराया था वास्तुकला के हिसाब से ताजमहल को अद्वितीय माना जाता है ऐसा कहा जाता है की ताजमहल के निर्माण के लिए अफगानिस्तान और श्रीलंका से भी पत्थर मंगवाए गए थे और इसका पूरा श्रेय और महल के निर्माण के हकदार उस्ताद अहमद लाहौरी को ही माना जाता है ताजमहल का निर्माण 17 वर्ष में जाकर पूर्ण हुआ था और आज भी यह प्यार की निशानी लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने का कोई मौका नहीं छोड़ती है।

स्वर्ण मंदिर (पंजाब )

भारत के अजूबे जो आज भी दुनिया में हमारी शान को बढ़ाते है आइए जानते है
भारत के अजूबे जो आज भी दुनिया में हमारी शान को बढ़ाते है आइए जानते है

हमारे देश में सभी धर्मो को एक नजरिए से देखा जाता है कोई किसी में भेदभाव नहीं करता है। स्वर्ण मंदिर सिख समुदाय का बहुत ही प्रमुख तीर्थ स्थल है स्वर्ण मंदिर सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में इसके चर्चे होते हैं तीर्थ स्थल होने के साथ ही ये सिख समुदाय का यह सबसे पुराना गुरुद्वारा भी है सिख समुदाय के इस भव्य और आलीशान स्वर्ण मंदिर को भगवान का घर भी कहा जाता है स्वर्ण मंदिर के चारों ओर स्थित सरोवर इसकी सुंदरता में चार चांद लगाते हैं। वही इसके अंदर गरीब-अमीर सामान है सभी को यहाँ पर एक साथ लाइन में बैठकर लंगर में खाना खिलाया जाता है। जिससे की लोगों में कोई भेदभाव ना हो और ये बताया जा सके की दुनिया में हर इंसान एक सामान है उस परमात्मा के लिए।

Read :  तारक मेहता का उल्टा चश्मा के जेठालाल की सफलता और उनके जीवन का संघर्ष Biography of Jethalal

गोमतेश्वर या श्रवणबेलगोला (कर्नाटक)

बाहुबली के नाम से जानी जाने वाली गोमतेश्वर की मूर्ति एक ही पत्थर से 883 ई में तराश कर बनाई गई थी। इस मूर्ति तक पहुंचने के लिए 618 सीढ़ियां चढ़कर जाना पड़ता है धार्मिक रूप से यदि देखा जाए तो इस मूर्ति का महत्व अधिक माना जाता है जैन संप्रदाय से मिली जानकारी के अनुसार बाहुबली एकमात्र ऐसे थे जिन्हें सर्वप्रथम मोक्ष की प्राप्ति हुई थी गोमतेश्वर मूर्ति की लंबाई करीब 60 फ़ुट है इस मूर्ति के महाअभिषेक में हजारों श्रद्धालु हिस्सा लेते हैं यह एकमात्र ऐसी मूर्ति है जो नग्न अवस्था में मौजूद है।

खजुराहो (मध्य प्रदेश)

मध्य प्रदेश के राज्य में स्थित खजुराहो का मंदिर सबसे आकर्षक वास्तु कला और मूर्तिकला के मिश्रण का एक महत्वपूर्ण और आकर्षित मंदिर है। इस खजुराहो में भारत की बेहतरीन कलाकारी का नमूना आपको देखने को मिल सकता है। इस मंदिर में लगे पीले रंग के विभिन्न बलुआ पत्थर कई तरह की संप्रदाय से रिश्ते रखते हैं यहां की वास्तुकला और मूर्तिकला देश-विदेश में भी बेहद प्रसिद्ध है।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी ) का उदय और उसके प्रधानमंत्री की सूची Biography of Bharatiya Janata Party

इनके अतिरिक्त गुजरात राज्य में स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी, इतिहास का सबसे पहला विश्वविधालय नालंदा जो की बिहार में है कर्णाटक का हम्पी। ये सभी भारत के 7 अजूबो है इनके अतिरिक्त और भी अजूबे भारत में है जिसकी जानकरी आपको हम जल्द ही देंगे।

Leave a Comment