अर्णब गोस्वामी बायोग्राफी | Arnab Goswami Biography in hindi

अर्णब गोस्वामी की जीवनी जहाँ पूरे दुनिया की हर खबर पत्रतारिता के जरिये लोगों तक पहुँचाई जाती है, बड़े-बड़े लोग राजनेता, अभिनेता, बिज़नेस मैन इत्यादि की हर छोटी-छोटी बातें breaking news बन जाती है जिसे अधिकतर लोग देखना पसंद नही करते है तो वही कोई एक ऐसा News Anchor है जिसने अपनी बात से अपनी पत्रतारिता से करोड़ो लोगों का दिल जीता है।

Arnab Goswami Biography in hindi
Arnab Goswami Biography in hindi

इस Biography Article में हम आपको एक बहुत ही अच्छे और जाने-माने और शुर्खियों में हमेशा रहने वालें Arnab Goswami के बारें में बताने वालें है, जिसमें आप News Reporter Arnab Goswami Biography in hindi के बारें में जानेंगे। आप भी इस महान और बुद्धिजीवी पत्रकार के बारें में जानना चाहते है तो लास्ट तक पढ़ते रहे।

अर्णब गोस्वामी बायोग्राफी | Arnab Goswami Biography in hindi

अर्णब गोस्वामी का जन्म 09 अक्टूबर 1973 को असम की राजधानी गुवाहाटी में हुआ था। यह एक विख्यात आसामिया परिवार से संबंध रखते है। अर्णब गोस्वामी के दादाजी एक वकील, काँग्रेस राजनेता और इसके साथ वह स्वतंत्रा सेनानी भी थे।

वास्तविक नाम अर्णब गोस्वामी
व्यवसाय पत्रकार / समाचार एंकर और मुख्य संपादक
जन्मतिथि 9 अक्टूबर 1973
जन्मस्थान गुवाहाटी, असम, भारत
राशि तुला
राष्ट्रीयता भारतीय
गृह नगर गुवाहाटी, असम, भारत
स्कूल/विद्यालय माउंट सेंट मैरी स्कूल, दिल्ली छावनी केन्द्रीय विद्यालय, जबलपुर छावनी
महाविद्यालय/विश्वविद्यालय हिंदू कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय, इंग्लैंड
शैक्षिक योग्यता समाजशास्त्र में स्नातक सामाजिक मानव विज्ञान में परास्नातक
परिवार पिता – मनोरंजन गोस्वामी (सेवानिवृत कर्नल और राजनीतिज्ञ)
माता – सुप्रभा गोस्वामी
भाई – ज्ञात नहीं
बहन – 1 (भारतीय रक्षा सेवा)
जाति ब्राह्मण
पत्नी पीपी गोस्वामी
बच्चे1
आय (समाचार वक्ता (एंकर) के रूप में)एक करोड़ रुपए/माह
Arnab Goswami Personal Details in hindi

इनके बेबाक और कातिथ प्रश्न से अच्छे-अच्छे का पसीना छुट जाता है। इनका मानना है कि जब आप पत्रतारिता में आते है तो आपको किसी से डरने की जरूरत नही है। आपको उनके सामने बिना किसी संकोच के सवाल पुछने चाहिए, जिसके लिए जिम्मेदार है और जनता उनका जवाब जानना चाहती है।

Read :  गूगल की सफलता की कहानी (Success Story Of Google in Hindi)

अर्णब गोस्वामी का जन्म एक ऐसे परिवार में हुआ था जिनके पिता सेना में कमान संभाते थे, इसलिए उनके पिता ने अर्णब के पिता ने उनकी शिक्षा विभिन्न तरह और ऊंच संस्थानों में कराई, जिससे वह कुछ पढ़कर लिखकर दुनिया की मदद कर सके और साथ में अपना नाम दुनियाभर में रौशन कर सकें।

अर्णब गोस्वामी की शिक्षा

इन्होने 10वी. क्लास तक की पढ़ाई दिल्ली के माउंट सेंट मैरी स्कूल से कंप्लीट किए थे, तो वहीं 12वी. कक्षा की पढ़ाई केन्द्रीय विदद्यालय से जबलपुर छावनी से पूरी किए। इसके बाद इन्होने आगे की graduation की पढ़ाई समाजशास्त्र विषय के साथ दिल्ली के Hindu University से पूरी की।

उन्होंने अपनी मास्टर्स डिग्री सामाजिक नृविज्ञान में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के सेंट अनतोनी विश्विधालय (1994) से की जहाँ पर वे एक फेलिक्स विद्वान रह चुके हैं। वे सन् 2000 में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के सिडनी ससेक्स कॉलेज के इंटरनेशनल स्टडीज़ विभाग में एक विजि़टिंग फेलो थे जहाँ के वो डी सी पवेट फेलो रह चुके हैं।  

अर्णब गोस्वामी की पत्रकार में कैरियर

जब अर्णब गोस्वमी ने मास्टर डिग्री की पढ़ाई पूरी की तो उसके बाद उन्होने अपने काम की शुरुआत the telegraph से की थी। फिर 1995  में उन्होने ने द टी वी में काम करना शुरु किया जहाँ पर वह एक दैनिक समाचार के एंकर थे और वह न्यूज़ टुनाईट नामक एक कार्यक्रम की रिपोर्टिंग करते थे। फिर बाद में अरनब एन डी टी वी का मुख्य हिस्सा बन गये।

वे न्यूज़ हॉर नामक कार्यक्रम की एंकरिंग करते थे। न्यूज़ हॉर सबसे लंबे समय तक चलने वाला समाचार विश्लेषण है, इतना लम्बा समाचार विश्लेषण किसी भी और चैनल में नहीं दिखाया जाता था। एनडीटीवी 24X7 के वरिष्ठ संपादक होने के कारण वह पूरे चैनल के प्रकरण के संपादन के जिम्मेदार थे।  

अर्णब गोस्वामी के जीवन की पहली आधार उनकी जीवन यात्रा की सीढ़ी NDTV बनी। जहाँ से उन्होने अपनी पत्रतारिता की शुरुआत किये। इसके साथ ही वह अन्य-अन्य न्यूज़ अजेंसी के साथ अपनी पहचान बढ़ाते गए और अपने बेबाक प्रश्न के जरिये लोगों तक अपनी संदेश पहुंचाते रहे।

अर्णब गोस्वामी का Times Now के साथ कैरियर

बात करें कुछ बड़ा हासिल करने का तो अर्णब गोस्वामी से हमें सबक लेनी चाहिए। उन्होने अपने जीवन में नई छलांग लगाने के लिए NDTV को छोडकर साल 2006 में Times Now के साथ TV News Reporter Editor Chief का पद संभाला।

Read :  डॉ हर्षवर्धन की जीवनी | Dr Harsh Vardhan Biography in Hindi

इनकी तेजतर्रार शैली में कार्यक्रम पेश करने की उनकी शैली ने दर्शकों को खूब लुभाया, जिसके दम पर टाइम्स नाऊ देश में अंग्रेजी का सबसे ज्यादा देखा जाने वाला चैनल बन गया। गोस्वामी के इस करिश्मे ने चैनल की कमाई को बढ़ाने में भी अहम योगदान दिया।

टाइम्स नाऊ को कमाऊ बनाने में गोस्वामी के कार्यक्रम ने निर्णायक भूमिका निभाई और चैनल के कुल राजस्व का 70 फीसदी इससे ही आता था। इसे देखते हुए उन्हें संपादकीय निदेशक और प्रधान संपादक से प्रोन्नत कर टाइम्स नाऊ और ईटी नाऊ का प्रेसिडेंट-न्यूज और प्रधान संपादक बनाया गया।

अर्णब गोस्वामी को मिलने वाला अवार्ड

Arnab Goswami Award इन्होने अपने-जीवन में कई सफ़ताये हासिल किये है और अपना खुद का channel R.Bharat भी लॉंच किये है। आपको बता दे अर्णब गोस्वामी को कई तरह के अवार्ड से भी नाबाजा जा चुका है जो निम्नलिखित है:-

  • 2003 –  Best Presenter या Anchor के लिए Asian Television Award (Runner up)
  • 2007 – मीडिया के क्षेत्र में Society Young Achievers Award for excellence
  • 2010 – Assamese of the Year Award by News Live
  • 2010 – Indian Express Group द्वारा Journalism (TV) में उत्कृष्टता के लिए Ramnath Goenka Award

अर्णब गोस्वामी रोचक तथ्य

Fact about arnab goswami इनके बारें में कई ऐसे फ़ैक्ट है जिसे आप शायद नही जानते होंगे। हम आपको अर्णब गोस्वामी रोचक तथ्य बताने जा रहे है जिससे आप परिचित नही हो सकते है।

  • अर्णब गोस्वामी ने नशीली पदार्थ का सेवन नही करते है।
  • यह एक ऐसे परिवार से संबंध रखते है जो ब्राह्मण है।
  • उन्होंने कोलकाता के प्रसिद्ध समाचार पत्र “द टेलीग्राफ” में एक पत्रकार के रूप में अपने करियर की शुरुआत की।
  • वर्ष 1995 में, वह एनडीटीवी से जुड़े और 3 वर्ष बाद वह एनडीटीवी के समाचार संपादक बन गए।
  • उन्होंने प्रसिद्ध न्यूज़ चैनल डीडी मेट्रो और स्टार न्यूज़ में राजदीप सरदेसाई के साथ एक समाचार एंकर के रूप में कार्य किया।
  • वर्ष 1998 के आम चुनाव में उनके पिता मनोरंजन गोस्वामी ने भाजपा की तरफ से गुवाहाटी क्षेत्र से चुनाव लड़ा और कांग्रेस के उम्मीदवार भुवनेश्वर कलिता से हार गए।
  • उनके दादा रजनीकांत गोस्वामी एक वकील और कांग्रेस के नेता थे। जबकि उनके नाना गौरीशंकर भट्टाचार्य असम में साम्यवादी पार्टी के एक कार्यकर्ता थे।
  • उनकी दादी भी राजनीति में थी।
  • Fact about social media in hindi
  • Fact about engineering in hindi
  • Fact about Candle in hindi
  • उनके पिता भारतीय सेना में कार्यरत थे, जिसके चलते उनके पिता का हस्तांतरण होता रहता था और इसी कारण उनका बचपन अलग- अलग शहरों में बीता।
  • उनका सबसे पहला टीवी साक्षात्कार सोनिया गांधी का था।
  • वर्ष 2002 में, उन्होंने अपनी पहली पुस्तक Combating Terrorism : The Legal Challenge लिखी।
  • वर्ष 2004 में, उन्हें सर्वश्रेष्ठ समाचार एंकर के एशिया पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • वर्ष 2015 में, Bombay Stock Exchange (BSE) की 140 वीं वर्षगांठ पर अर्णब गोस्वामी ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के घंटे को बजाया। ऐसा करने वाले वह पहले पत्रकार बने। अर्णब गोस्वामी (BSE)
  • अर्णब गोस्वामी की लाईव न्यूज एंकरिंग की सबसे बड़ी खासियत यह है कि वे बिना स्क्रिप्ट के ही कुछ ऐसे तेज-तर्रार प्रश्न पूछ लेते हैं, जिसका जवाब देने वाला सन्न रह जाता है।
  • उनकी बहन भारतीय सेना में अपनी सेवाएं दे रही हैं।
  • अर्णब गोस्वामी की सबसे महत्वपूर्ण कवरेज (Coverage) रही है – 26/11 मुंबई बम धमाका हमला। जहां पर उन्होंने लगातार 65 घंटे तक बिना रुके एंकरिंग की थी। जोकि भारत में अब तक किसी भी पत्रकार ने नहीं की।
Read :  Biography of blogger rohit kumar |Rohit google boy story

अर्णब गोस्वामी वर्तमान कैरियर

अगर हम बात अर्णब गोस्वामी के वर्तमान कैरियर के बारें में बात क्रेन तो वह फिलहाल R.Bharat TV Channel में News Anchor के रूप में काम कर रहें है। इनकी शो देखने वालों की संख्या करोड़ो में है। जब भी इनका कोई विडियो YouTube, Facebook इत्यादि पर अपलोड होती है तो उनके कुछ ही समय में लाखों Views हो जाते है।

अर्णब गोस्वामी एक ऐसे News Reporter है, जो सबके सामने Live TV पर बिना किसी डर और संकोच के सीधे प्रश्न पूछ लेते है जिसका जवाब जनता जानन चाहती है और यह बातें उनसे पुछनी भी चाहिए। इनकी यही खूबी पत्रकार के रूप में दुनियभार में अपनी नाम रौशन कर रहे है।  

अंतिम शब्द

आपने इस Article में Arnab Goswami Biography in hindi | अर्णब गोस्वामी की जीवनी के बारें में जाना। आशा करता हूँ आपको यह जानकारी पसंद आई होगी।

आपको लगता है कि यह Information सबके साथ Share करनी चाहिए तो इसे Social Media Facebook, Whatsapp इत्यादि पर अवश्य Share करें। शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

2 thoughts on “अर्णब गोस्वामी बायोग्राफी | Arnab Goswami Biography in hindi”

Leave a Comment